योगी ने भाजपा की निधि समर्पण योजना में दिया अपना वेतन, मंत्रियों को भी दी हिदायत

योगी ने भाजपा की निधि समर्पण योजना में दिया अपना वेतन, मंत्रियों को भी दी हिदायत

चुनावी खर्च के लिए शुरू की गई भाजपा की निधि समर्पण योजना में सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने वेतन से दो लाख 51 हजार रुपये दिये हैं। इसके पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय, लोकसभा चुनाव प्रभारी जेपी नड्डा और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने अपनी सहयोग राशि समर्पित की थी। प्रदेश अध्यक्ष ने 1.85 लाख रुपये दिए थे। योगी ने अपने सभी मंत्रियों को भी एक माह का वेतन इस निधि में समर्पित करने के निर्देश दिए हैं।

सोमवार शाम योगी आदित्यनाथ भाजपा मुख्यालय पहुंचे और उन्होंने अपनी निधि समर्पित की। आम चुनावों के लिए फंड एकत्र करने के लिए भाजपा ने यह अभियान शुरू किया है। इस कड़ी में सभी सांसदों, विधायकों, आयोगों और निगमों के नामित अध्यक्ष और उपाध्यक्षों को भी एक-एक महीने का वेतन देना है। चुनावी खर्च जुटाने के लिए 17 मार्च तक चलने वाली भाजपा की निधि समर्पण योजना पहले दिन रविवार को सभी छह क्षेत्रों में शुरू की गई।

प्रदेश के भाजपा मुख्यालय में अवध क्षेत्र के सांसदों, विधायकों, पदाधिकारियों, प्रदेश पदाधिकारियों और सरकार के कई मंत्रियों ने चेक के जरिये निधि समर्पित की और नरेंद्र मोदी को फिर प्रधानमंत्री बनाने के लिए संकल्प दोहराया। मंगलवार से गुरुवार तक जिलों में यह योजना चलेगी। संग्रह के लिए प्रतिष्ठान, सामाजिक प्रतिष्ठान, व्यापार मंडल और जनप्रतिनिधियों से संपर्क किया जा रहा है। यह अनिवार्य किया गया है कि चेक के जरिये ही समर्पण निधि ली जाएगी। 20 हजार रुपये से अधिक धन देने वाले का पैन भी लिया जाएगा। चेक मिलने के बाद संबंधित व्यक्ति को रसीद दिया जाना है।

Top Stories