इराक के मोसुल में ध्वस्त इमारतों के मलबे से मिले 5,228 से अधिक शव, युद्ध में मारे गए थे 40,000 लोग

इराक के मोसुल में ध्वस्त इमारतों के मलबे से मिले 5,228 से अधिक शव, युद्ध में मारे गए थे 40,000 लोग
9 जुलाई, 2017 को ली गई तस्वीर : मोसुल के ओल्ड सिटी का खंडहर

मोसुल : खुफिया रिपोर्टों के मुताबिक पिछले अनुमानों की तुलना में ISIS से मोसुल को वापस लेने के लिए विनाशकारी लड़ाई में 40,000 से अधिक लोग नागरिक मारे गए थे । कुर्दिश खुफिया सेवाओं के मुताबिक, आतंकवादियों को मजबूर करने के प्रयास के साथ-साथ हवाई हमले और ईएसआई आतंकवादियों द्वारा इराक़ी जमीन बलों ने घिरे शहर के निवासियों की हत्या कर दी थी।

हाल ही में बगदाद के एक वरिष्ठ मंत्री ने बताया था कि कई निकायों को अभी भी मलबे के नीचे दफनाया गया है। उन्होंने कहा, “मानव पीड़ा का स्तर बहुत अधिक था।” कुर्द खुफिया का मानना ​​है कि उनके खिलाफ इस्तेमाल होने वाली भारी अग्निशक्ति के परिणामस्वरूप 40,000 से ज्यादा नागरिक मारे गए हैं, खासकर संघीय पुलिस के हवाई हमले और आईएसआई द्वारा। ”

इराक के मोसुल शहर में ध्वस्त इमारतों के मलबे से बीते महने 5,200 से अधिक शव बरामद किए गए हैं। मोसुल नगरपालिका के लाइथ जैनी कहते हैं, “बीते महीने 5,228 शव बरामद हुए जिनमें से 2,658 नगारिकों के शव हैं जबकि 2,570 इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों के।” जैनी ने कहा, “आज (गुरुवा) हमने शवान शहर में मलबे से छह अज्ञात लोगों के शव बरामद किए हैं। हमारा मानना है कि मलबे में अभी 500 से 700 तक शव और हैं।” जैनी का कहना है कि आईएस आतंकवादियों के शवों की पहचान होने के बाद इन्हें अलग कब्रिस्तान में दफनाया जाएगा।

Top Stories