एंडरसन को गेंदबाजी करते देख काफी कुछ सीखने को मिला : मोहम्मद शमी

एंडरसन को गेंदबाजी करते देख काफी कुछ सीखने को मिला : मोहम्मद शमी

भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने कहा कि एंडरसन को गेंदबाजी करते देख काफी कुछ सीखा है। उन्होंने कहा, भारतीय गेंदबाजों जितनी तेजी नहीं होने के बावजूद जेम्स एंडरसन कैसे अपने कौशल से बल्लेबाजों को छकाने में सक्षम हैं।

नवभारत टाइम्स की खबर के अनुसार, चौथे टेस्ट से पूर्व शमी ने एंडरसन को शुभकामनाएं दीं जो टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाज के रूप में ग्लेन मैकग्रा (563 विकेट) का रेकॉर्ड तोड़ने से सिर्फ 7 विकेट दूर हैं। एंडरसन के नाम पर 557 विकेट दर्ज हैं।

शमी ने मंगलवार को यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘जहां तक सीखने की प्रक्रिया का सवाल है, जब आप एक सीनियर खिलाड़ी (एंडरसन) को अपने सामने ऐसा प्रदर्शन करते देखते हैं तो आप उसे देखकर अधिक से अधिक सीखने की कोशिश करते हैं।

मैं हमेशा देखता कि हमारे जितनी गति नहीं होने के बावजूद वह विकेट चटका रहा है- वह किस लेंथ के साथ गेंदबाजी कर रहा है। आपको ये चीजें सीखने को मिलती हैं। वह अलग हालात में अलग तरह का गेंदबाज होता है।’

उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ी चाहे कहीं से भी आए, सबसे पहले आपको यह देखना चाहिए कि वह घरेलू हालात का फायदा कैसे उठाता है। हम एंडरसन से काफी कुछ सीखने में सफल रहे। शमी ने कहा, ‘इन हालात में नतीजे देने की जिम्मेदारी तेज गेंदबाजों पर है। हमने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया और कर रहे हैं।

मुख्य कोच रवि शास्त्री ने मौजूदा आक्रमण को अब तक का सर्वश्रेष्ठ करार दिया है और शमी टीम की तारीफ से खुश हैं। शमी से जब सिर्फ तेज गेंदबाजों को उतारने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘टेस्ट मैच में 5 पेसर के साथ उतरने का फैसला मुश्किल होता है।

मेरे हिसाब से आपको स्पिनर की जरूरत होती है क्योंकि पांचवें दिन निश्चित तौर पर गेंद टर्न करती है। मैं निश्चित तौर पर कह सकता हूं कि इस विकेट पर अच्छा नतीजा आएगा।’ शमी ने कहा कि वह उन निजी मुद्दों से उबर गए हैं जिनके कारण पिछले कुछ महीनों में परेशान रहे।

उन्होंने कहा, ‘पारिवारिक मामले के कारण पिछले आठ महीने मेरे लिए कड़े रहे। यह मायने नहीं रखता कि क्या हुआ और क्या नहीं, यह समय मेरे लिए काफी तनावभरा था। मैं कुछ समय तक इसके कारण परेशान रहा।’

Top Stories