मराठों के बाद अब मुस्लिम समुदाय ने की आरक्षण की मांग, निकाला मूक मोर्चा

मराठों के बाद अब मुस्लिम समुदाय ने की आरक्षण की मांग, निकाला मूक मोर्चा

पुणे: मुस्लिम समुदाय के लोगों ने सरकारी नौकरियों और शिक्षा में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग करते हुए रविवार को पुणे में मूक रैली निकाली. गोलीबार मैदान से मुस्लिम मूक मोर्चा रैली की शुरुआत हुई और यह पुणे जिलाधिकारी कार्यालय तक गयी जहां पर जिलाधिकारी नवल किशोर राम को एक ज्ञापन सौंपा गया.

प्रदर्शन मार्च के आयोजकों में एक अंजुम इनामदार ने दावा किया, ‘‘2014 में महाराष्ट्र में कांग्रेस-राकांपा सरकार ने मुसलमानों के 50 समुदायों को पांच प्रतिशत आरक्षण देने के लिए एक अध्यादेश जारी किया था. बंबई उच्च न्यायालय ने शिक्षा में मुसलमानों के लिए आरक्षण की अनुमति दे दी, इसके बावजूद अध्यादेश कानून नहीं बन पाया.’’

इनामदार ने कहा कि इस अध्यादेश को कानून में बदला जाना चाहिए और प्रदेश के मुस्लिम समुदाय को नौकरियों के साथ ही शैक्षाणिक संस्थानों में आरक्षण दिया जाना चाहिए.

 

Top Stories