मौलाना अबदुल्लाह क़ुरैशी का इंतेक़ाल नाक़ाबिले तलाफ़ी नुक़्सान:ज़ाहिद अली ख़ान

मौलाना अबदुल्लाह क़ुरैशी का इंतेक़ाल नाक़ाबिले तलाफ़ी नुक़्सान:ज़ाहिद अली ख़ान

हैदराबाद 09 दिसंबर: ज़ाहिद अली ख़ां एडीटर रोज़नामा सियासत ने ख़तीब-ओ-इमाम मक्का मस्जिद हज़रत मौलाना अबदुल्लाह क़ुरैशी अल -अज़हरी के इंतेक़ाल पर अपने गहरे रंज का इज़हार करते हुए कहा कि मौलाना की शहरे हैदराबाद में नाक़ाबिले फ़रामोश ख़िदमात रही हैं।

ख़तीब-ओ-इमाम मक्का मस्जिद की ज़िम्मेदारीयों के अलावा अबदुल्लाह क़ुरैशी साहिब ने समाजी मसाइल पर इज़हार-ए-ख़याल और उमत की तर्बीयत पर ख़ुसूसी तवज्जा मर्कूज़ की थी।

एडीटर सियासत ने ख़तीब-ओ-इमाम मक्का मस्जिद के इंतेक़ाल को नाक़ाबिले तलाफ़ी नुक़्सान क़रार देते हुए कहा कि हज़रत अबदुल्लाह क़ुरैशी अपनी अरबी दीनी के अलावा मख़सूस लहन के सबब दुनिया भर में मशहूर थे। उन्होंने पसमानदगान से इज़हार ताज़ियत करते हुए कहा कि अल्लाह उस घड़ी में अहिल-ए-ख़ाना को सब्र जमील अता फ़रमाए।

Top Stories