लड़कियों की वर्जिनिटी की तुलना बोतल की खुली सील से करने वाले प्रोफेसर पर कारवाई

लड़कियों की वर्जिनिटी की तुलना बोतल की खुली सील से करने वाले प्रोफेसर पर कारवाई

महिलाओं को लेकर विवादित पोस्ट फेसबुक पर डालने वाले कोलकाता के जादवपुर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर कनक सरकार को तत्काल प्रभाव से उनके कर्तव्यों से विरत कर दिया गया। बता दें कि प्रोफेसर ने सोमवार को महिलाओं को लेकर एक विवादित पोस्ट फेसबुक पर डाली थी।

कनक ने “वर्जिन दुल्हन क्यों नहीं?” विषय पर लिखा। उसमें कनक ने लिखा कि “बहुत सारे लड़के बेकवूफ बने हुए हैं। वो बीवी के रूप में एक वर्जिन लड़की को लेकर जागरूक नहीं हैं। वर्जिन लड़की एक सील बंद बोतल या सील बंद पैकेट की तरह है। क्या तुम सील टूटी कोल्ड ड्रिंक की बोतल या सील खुले बिस्किट के पैकेट को खरीदना पसंद करोगे? इसी तरह तुम्हारी बीवी का केस है”।

छात्रों और अध्यापकों ने सरकार पर फेसबुक पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने और इसी तरह के बयान कैंपस में देने का आरोप लगाया। जेयू हमेशा से ही छात्र राजनीति का मुख्य केंद्र रहा है। अपनी दूसरी पोस्ट में सरकार ने लिखा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66ए के तहत सोशल मीडिया पर अपनी भावनाएं व्यक्त करने का अधिकार दिया है।’ जिसके बाद वह बंगाल के बुद्धिजीवियों के निशाने पर आ गए।

सिटी कॉलेज में अर्थशास्त्र विभाग की प्रमुख शाश्वती घोष ने कहा, ‘एक महिला बहुत से कारणों की वजह से अपनी वर्जिनिटी खो देती है। जिसमें खेल (स्पोर्ट) भी शामिल है। इस प्रोफेसर की शैक्षणिक योग्यता सवालों के घेरे में है। वह बच्चों को क्या पढ़ाएगा?’  जेयू के कुछ अध्यापकों ने सरकार के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया था।

Top Stories