वेस्टइंडीज में बना रिकॉर्ड इंग्लैंड में टूटेगा, 48 साल बाद विराट कोहली करेंगे ‘चमत्कार’?

वेस्टइंडीज में बना रिकॉर्ड इंग्लैंड में टूटेगा, 48 साल बाद विराट कोहली करेंगे ‘चमत्कार’?

नई दिल्ली. कहते हैं रिकॉर्ड बनते ही हैं टूटने के लिए. लेकिन भारतीय क्रिकेट का एक रिकॉर्ड है जो टूटने का नाम ही नहीं ले रहा. उस रिकॉर्ड को बने 48 साल बीत चुके हैं लेकिन अब तक वो जस का तस है. 48 साल पहले भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर एक टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बने थे. 1970-71 में खेली ये सीरीज गावस्कर की डेब्यू टेस्ट सीरीज थी और वेस्टइंडीज के खिलाफ उसी की सरजमीं पर खेली गई थी.

गावस्कर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली 1970-71 की टेस्ट सीरीज में 8 पारियों में 154.80 की औसत के साथ कुल 774 रन बनाए थे. इसमें 4 शतक और 3 अर्धशतक शामिल थे. इस सीरीज में गावस्कर ने सबसे बड़ी इनिंग 220 रन की खेली थी. एक सीरीज में किसी बल्लेबाज के बल्ले से निकले 774 रन अब तक का भारतीय रिकॉर्ड है. लेकिन किसी भी भारतीय बल्लेबाज के लिए इसे तो छोड़िए गावस्कर के 732 रन के दूसरे बेस्ट स्कोर तक भी फटकना आज तक मुमकिन नहीं हो सका है. गावस्कर ने 732 रन 1978-79 के वेस्टइंडीज दौरे पर बनाए थे.

ऑस्ट्रेलिया में विराट की कोशिश नाकाम

हालांकि, गावस्कर के इस रिकॉर्ड को तोड़ने की विराट कोहली लगातार कोशिश करते रहे हैं. 2014-15 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर विराट 8 पारियों में 4 शतक और 1 अर्धशतक के साथ 692 रन बनाए थे और गावस्कर के भारतीय रिकॉर्ड से 82 रन दूर रह गए थे.

वेस्टइंडीज का रिकॉर्ड इंग्लैंड में टूटेगा

इस बार अपने दूसरे इंग्लैंड दौरे पर वो एक बार फिर से गावस्कर के रिकॉर्ड की ओर बढ़ते दिख रहे हैं. 3 टेस्ट की 6 पारियों में वो 73.33 की औसत से 440 रन बना चुके है. मतलब ये कि अगली 4 पारियों में उन्हें गावस्कर का 48 साल पुराना भारतीय रिकॉर्ड अपने नाम करने के लिए 335 रन और चाहिए. इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में विराट लाजवाब फॉर्म में हैं और इसका प्रमाण है सीरीज में उनका औसत और उनके बल्ले से निकले 2 शतक और इतने ही अर्धशतक. विराट अगर अगली 4 में से 2 पारियों में भी शतक ठोकते हैं तो मुमकिन है कि ऑस्ट्रेलिया में चूकने के बाद वो इंग्लैंड में गावस्कर के 774 रन के भारतीय रिकॉर्ड को तोड़ने का चमत्कार कर सकते हैं.

Top Stories