शेहला रशीद ने बेगूसराय के मुसलमानों को किया कन्हैया के पक्ष में!

शेहला रशीद ने बेगूसराय के मुसलमानों को किया कन्हैया के पक्ष में!

बेगूसराय : लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के लिए आज (शनिवार को) प्रचार का अंतिम दिन है. 29 अप्रैल यानी सोमवार को बिहार के पांच लोकसभा सीटों के लिए वोटिंग होगी. बेगूसराय लोकसभा क्षेत्र से सीपीआई से कन्हैया कुमार को टिकट मिलने के बाद से ही जेएनयू छात्र संघ ने उनको जिताने के लिए कमर कस ली है. इसी कड़ी में जेएनयू छात्र संघ की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद ने जिले में कई जगहों पर कन्हैया के लिए वोट मांगे. शेहला रशीद अल्प संख्यक वोटरों को भावनात्मक रूप से प्रभावित कर रही हैं। शेहला ने मुसलमानों से भी कन्हैया को वोट करने की अपील कर रही है। उसकी भाषण से मुस्लिम मुतासीर भी हो रहे हैं। चूंकि भाषण दमदार है और युवा की आवाज है, जोश है और मुसलमानो को ये बात पसंद आ रही है। जीत हार तो अलग है, लेकिन यूवा शेहला के भाषण से आकर्षित हो रहे हैं, और अगर लोग इस आकर्षण को वोट में तब्दील कर सके तो कन्हैया की जीत पक्की है। शेहला बोलीं कन्हैया केवल नाम नहीं बल्कि जुल्म के खिलाफ देश की आवाज है। वह गरीबों, मजलुमों, अल्पसंख्यकों तथा दलितों के ह़क की लड़ाई लड़ रहा है।

शेहला रशीद ने कहा कि कोई इंसान डॉक्टर वकील या किसी अन्य पद पर कायम हो सकता है लेकिन एक नेक इंसान बनने के लिए बहुत त्याग करना पड़ता है और वह सारे गुण कन्हैया में उपलब्ध हैं. उन्होंने कहा कि आप कन्हैया को विजयी बनाकर संसद भेजिए। वह जिस दिन संसद में भाषण देंगे, आप यकीन मानिए मोदी उस दिन संसद नहीं आएंगे। शेहला ने कहा कि कन्हैया देश की आवाज हैं और आप का आशीर्वाद मिला तो यह आवाज संसद में गुंजेगी।

शेहला ने कहा कि भले ही हम लोग अलग-अलग पार्टी के थे लेकिन छात्र संघ का चुनाव जीतने के बाद कन्हैया ने सबों को एक धागे में पिरोकर चलना सिखाया और साथ काम करना सिखाया. शेहला रशीद ने लोगों से अपील की की चुनाव में कन्हैया कुमार को वोट देकर विजयी बनाएं ताकि संसद भवन पहुंचकर कन्हैया लोगों की आवाज उठाने का काम कर सकें.

शेहला ने कहा कि बेगूसराय के मतदाता खुश किस्मत हैं कि उनकी धरती ने कन्हैया जैसे सपूत को जन्म दिया है. शेहला ने कन्हैया की बात करते हुए यहां तक कह दिया कि आप सिर्फ बेगूसराय से अपना सांसद नहीं चुन रहे बल्कि अपने देश के लिए भविष्य का प्रधानमंत्री चुनने जा रहे हैं. शेहला ने कहा कि कन्हैया देश की आवाज हैं और आप का आशीर्वाद मिला तो यह आवाज संसद में गुंजेगी. मालूम हो कि शहला से पहले भी कन्हैया के लिए कई समाजसेवी, बुद्धिजीवी और कला जगत के लोग वोट मांग रहे हैं.

उधर, बीजेपी उम्मीदवार गिरिराज सिंह ने कहा कि जब हम बोलते हैं तो चुनाव आयोग संज्ञान लेता है, जबकि विपक्षी दल सीपीआई के शहला राशिद चुनाव प्रचार में विष वमन कर हिंदू धर्म को गाली देती है तो सब मौन हैं. गिरिराज सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि शहला राशिद पर कहती है कि हिंदू और मुस्लिम गौ मांस खाते हैं. जबकि हम तो गौ माता की पूजा करते हैं. उन्होंने कहा कि शहला राशिद ने ये कभी नहीं कहा कि हिंदू-मुस्लिम सुअर का मांस खाते हैं. उन्हें सिर्फ हिंदुओं के धर्म, देवी-देवताएं ही नजर आते हैं गाली देने के लिए. समाज विभिन्न जातियों में विभक्त है, यह वोट बैंक नहीं है.

Top Stories