हर धर्म का अपना एक आतंकी : कमल हासन

हर धर्म का अपना एक आतंकी : कमल हासन

अभिनेता से नेता बनेे कमल हासन ने फिर से एक विवादित बयान दिया है. उनका कहना है कि मैं अपने पहले बयान पर कायम हूं चाहे मुझे कोई भी सजा दी जाए. मक्कल नीधि मियाम के प्रमुख कमल हासन ने कहा है कि हर धर्म का अपना एक आतंकवादी है. हम दावा नहीं कर सकते कि हम पवित्र हैं. इतिहास गवाह है कि सभी धर्मों के अपने चरमपंथी हैं.


तमिलनाडु के मुख्य चुनाव अधिकारी सत्यब्रत साहू ने कहा कि करुर जिले के अरवाकुरिचि में दिए गए हासन के हिंदू चरमपंथी वाले बयान को लेकर जिला चुनाव अधिकारी से रिपोर्ट तलब की गई है। तमिलनाडु के अरावकुरिची में गुरुवार को एक जनसभा में चप्पल और अंडे फेंके जाने की घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कमल हासन ने कहा कि मुझे लगता है राजनीति की गुणवत्‍ता नीचे जा रही है. मुझे डर नहीं लगा. हर धर्म का अपना आतंकवादी है, हम दावा नहीं कर सकते कि हम पवित्र हैं. इतिहास गवाह है कि सभी धर्मों के अपने चरमपंथी हैं. मुस्लिम बहुल अरवाकुरिचि विधानसभा उपचुनाव के लिए रविवार को आयोजित रैली में हासन ने कहा था कि आजाद भारत का पहला चरमपंथी हिंदू था, जिसका नाम नाथूराम गोडसे था और जिसने महात्मा गांधी की हत्या की थी। इसी बयान को लेकर उनके खिलाफ अरवाकुरिचि में पुलिस ने केस दर्ज किया है। अदालत ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है।

वहीं ‘हिंदू आतंकवादी’ वाले बयान पर हो रहे विरोध पर उन्होंने कहा कि मुझे गिरफ्तार होने से डर नहीं लगता. उनको (पुलिस) गिरफ्तार करने दीजिए. अगर वे ऐसा करते हैं तो इससे और ज्यादा दिक्कतें होंगी. ये कोई चेतवानी नहीं बस एक राय है. बता दें कि गुरुवार को एक चुनावी जनसभा में कमल हासन पर अंडे और पत्थर फेंके गए थे. कमल हासन जब अपना भाषण खत्म करके मंच से नीचे उतरे तभी दो लोगों ने उनपर हमला किया. आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

अंडे और चप्पल फेंकने की घटना से पहले मदुरै में एक जनसभा के दौरान उनपर चप्पल फेंकने की कोशिश भी की गई थी. मदुरै पुलिस के अनुसार कुछ लोगों ने कमल हासन की जनसभा में हंगामा करने और उनपर चप्पल फेंकने की कोशिश की गई. बता दें कि तमिलनाडु में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कमल हासन ने कहा था कि आजाद हिंदुस्तान का पहला हिंदू आतंकवादी था. यह बात उन्होंने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे के बारे में कही थी. इस बयान के बाद से कमल हासन का जमकर विरोध हो रहा है. बयान को लेकर कमल हासन पर केस भी दर्ज कराया गया. हासन के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 153 (ए) और 295 (ए) के तहत शिकायत दर्ज कराई गई है. उन पर हिंदुओं की धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने का आरोप है.

Top Stories