हमें पाकिस्तान जाना होता तो हम 1947 में ही चले जाते- फारुक अब्दुल्लाह

हमें पाकिस्तान जाना होता तो हम 1947 में ही चले जाते- फारुक अब्दुल्लाह

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि आज हमको पाकिस्तानी कहा जाता है, अगर हमें पाकिस्तान जाना होता तो हम 1947 में गए होते, मगर हमने भारत को चुना जो सबका भारत था, गांधी का भारत था।

मगर आज भारत को बदलने की कोशिश हो रही है। उन्होंने केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि मैं उन्हें मानूंगा अगर वह 370 और 35ए को छूने की हिम्मत करें। ऐसा करने से जम्मू कश्मीर और भारत के बीच संबंध खत्म हो जाएंगे।

गांदरबल में मंगलवार को चुनावी सभा को संबोधित करते हुए फारूक अब्दुल्ला ने कहा, ‘अमित शाह और अरुण जेटली ने कहा कि वे अनुच्छेद 370 और 35ए को समाप्त कर देंगे।

करें, हम यह भी देखेंगे कि वे यह कैसे कर सकते हैं। हो सकता है हमें इससे आजादी मिल जाए। पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए फारूक ने कहा, वह अच्छे अभिनेता हैं।

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, श्रीनगर से प्रत्याशी फारूक ने कहा, आज हमें होशियार रहना है, राज्य को नहीं बल्कि देश को बचाना है।

डॉ. फारूक ने कहा, अगर स्थायी रूप से जम्मू कश्मीर में शांति बहाल करनी है तो भारत-पाकिस्तान के बीच माहौल ठीक होना चाहिए। हम हिंदुस्तानी हैं, लेकिन हम पाकिस्तान की समृद्धि की भी कामना करते हैं। पूर्व पीएम वाजपेयी ने भी मीनार-ए-पाकिस्तान में यही कहा था।

Top Stories