सीमापार वायुसेना की कार्रवाई पर पूर्व आईएएस शाह फैसल ने उठाए सवाल !

सीमापार वायुसेना की कार्रवाई पर पूर्व आईएएस शाह फैसल ने उठाए सवाल !

जम्मू-कश्मीर के पूर्व भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी शाह फैसल, जिन्होंने हाल ही में प्रशासनिक सेवा से से इस्तीफा दे दिया था उन्होंने मंगलवार को सोशल मीडिया पर एक चौंकाने वाली पोस्ट डाली और भारत द्वारा पाकिस्तानी क्षेत्र में आतंकी लॉन्च पैड को नष्ट करने के लिए उठाए गए स्टैंड पर सवाल उठाते हुए एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने राजनीतिक नफा-नुकसान की बात कही है।

हालांकि पाकिस्तान में आतंकवादियों के खिलाफ अपने बहादुर शूरवीरों के लिए भारतीय सशस्त्र बलों की सराहना करने के बजाय फैसल ने इस सवाल पर सवाल उठाया कि इस स्ट्राइक से किसको फायदा होगा। ‘भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध की स्थिति … भारत में राइट विंग के लिए संभावित चुनावी लाभ। कौन हारा और कौन जीता? ”

गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को सुबह साढ़े 3 बजे 12 मिराज 2000 भारतीय लड़ाकू जेट विमानों ने एलओसी के पार जाकर आतंकवादी कैंपों पर निशाना बनाया। इसे पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया है बताया जा रहा है कि इस हमले में खासी तादात में आंतकियों को जानें गई हैं। भारतीय एयरफोर्स के इस बेहद बहादुरी भरे कदम को लेकर देश दुनिया में इसकी बेहद सराहना हो रही है।

इसके अलावा इस ऑपरेशन में भारत ने उसके तीन करीबियों को भी खत्म कर दिया।मारे गए आतंकियों में मसूद अजहर का रिश्तेदार युसूफ अजहर (Brother-in-Law) शामिल है।

बालाकोट में शिविरों का नेतृत्व ये ही करता था। इसके अलावा मौलाना अम्मार (अफगानिस्तान और कश्मीर ऑपरेशंस से जुड़े हुए) और मसूद अजहर के भाई और तैयारी विंग के प्रमुख मौलाना तल्हा सैफ को भी टारगेट किया गया।

Top Stories