VIDEO: भीमा-कोरेगांव मामले में पुलिस का दावा, गिरफ्तार आरोपी खरीदना चाहते थे ग्रेनेड लॉन्चर

VIDEO: भीमा-कोरेगांव मामले में पुलिस का दावा, गिरफ्तार आरोपी खरीदना चाहते थे ग्रेनेड लॉन्चर

भीमा कोरेगाव मामले में जुड़े देश भर से गिरफ्तार किए गए आरोपीयों के बारे में महाराष्ट्र पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बड़ा खुलासा किया है. महाराष्ट्र पुलिस के ADG परमबीर सिंह ने गिरफ्तार किए गए सभी लोगों का नक्सलियों के साथ संबंध होने की बात कही है.

पुलिस ने इस गिरफ़्तारी को सही करार दिया है.महाराष्ट्र पुलिस के ADG ने बताया कि इनकी गिरफ़्तारी जरुरी और सही है. छापे मारी की कार्यवाई में इनके पास से हज़ारों ऐसे पत्र मिले है. जिससे ये साफ़ होता है गिरफ्तार किए गए वामपंथी विचारकों के नक्सली के साथ संबंध है. इस पत्र में हथियार और पैसों का जिक्र किया गया है.

 

पुलिस की माने तो माओवादियों का मकसद सरकार के खिलाफ जंग छेड़कर तख्तापलट करने का भी इरादा था. वरवर राव, अरुण परेरा, सुधा भारद्वाज, गौतम नवलखा और वरनॉन गोन्साल्वीस के घर से छापेमारी की कार्यवाई में कई अहम दस्ताबेज के अलावा लैपटॉप, कंप्यूटर और पासवर्ड भी बरामद किया गया है.

बरामद किए गए कागज़ पत्र से पता चला है कि भारी मात्रा में हथियार खरीदने वाले थे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करने , मोदी सरकार का तख्तापलट करने का इरादा था.

इतना ही नहीं इन लोगों का जम्मू कश्मीर में अलगावादियों नेताओं के साथ संपर्क में थे. सभी लोग ईमेल के जरिए एक दूसरे से संपर्क में थे. पूरी वारदात को अंजाम देने के लिए छत्तीसगढ़ के जंगल में कुछ लोगों को बाक़ायद ट्रेनिंग दी जानी थी. म्यांमार में इसके लिए इनलोगों की मीटिंग भी हुई थी.

उन्होंने कहा कि इस मामले में दिल्‍ली, मुंबई और नागपुर समेत 6 जगहों पर छापेमारी की गई थी. उन्‍होंने बताया कि 17 मई को UAPA एक्‍ट लगाया गया. उन्‍होंने बताया कि इन स्‍थानों पर छापेमारी में बड़ी मात्रा में नक्‍सली साहित्‍य बरामद हुए हैं. सभी के खिलाफ जांच चल रही है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सभी आरोपियों को उनके घरों में नजरबंद किया गया है.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमले की साजिश रचने के मामले में सुरक्षा एजेंसियों ने मंगलवार को बड़ी कार्रवाई की है. पुणे पुलिस ने कथित रूप से पीएम मोदी की हत्‍या की साजिश रचने के मामले में पांच बड़ी गिरफ्तारियां की हैं. इनमें प्रोफेसर, पत्रकार और मानवाधिकार कार्यकर्ता शामिल हैं. ये सभी गिरफ्तारियां दिल्ली, फरीदाबाद, ठाणे, मुंबई और हैदराबाद से हुई है.

सुरक्षा एजेंसियों ने फरीदाबाद से सुधा भारद्वाज को गिरफ्तार किया है. उनका लैपटॉप और पेन ड्राइव भी जब्त कर लिया गया है. वहीं ठाणे से अरुण परेरा और मुंबई से वरनन गोंजाल्विस को हिरासत में लिया गया है. दिल्‍ली से गौतम नवलखा और हैदराबाद से वरवर राव को भी गिरफ्तार किया गया है. इन सभी को नक्‍सलियों से साठगांठ के आरोप में हिरासत में लिया गया है. नक्‍सली कथित रूप से पीएम मोदी पर हमले की साजिश रच रहे थे. पकड़े गए सभी लोग सामाजिक कार्यकर्ता और कलाकार हैं.

Top Stories