किशोरों द्वारा चलाया जाने वाला भारत का पहला HIV+ कैफे जिसका मेजबानी कोलकाता करेगा

किशोरों द्वारा चलाया जाने वाला भारत का पहला HIV+ कैफे जिसका मेजबानी कोलकाता करेगा

नई दिल्ली : कल्लोल घोष और उनकी टीम के लिए एक HIV+ कैफे शुरू करने के लिए एक जगह तलाशने में छह महीने लग गए, जिसका मकसद केवल HIV+ किशोरों को रोजगार देना था। आखिरकार, उन्हें कोलकाता के जोधपुर पार्क क्षेत्र में एक गेराज में एक जगह मिली जो कि दस HIV+ युवाओं को लाभकारी रूप से नियोजित करने का ड्रीम मिशन शुरू करने के लिए सपना पुरा हुआ।

जबकि हर किसी ने कैफे के लिए अपनी जमीन का पट्टा देने से इनकार कर दिया था, वहीं कोलकाता के रोटरी क्लब के मानद सदस्य इंद्रजीती दासगुप्त थे, जिन्होंने उद्यमी किशोरों को अपनी जगह दी।

कैफे-पॉजिटिव, एक अद्वितीय कैफेटेरिया जिसका स्वामित्व और कोलकाता में 10 # HIV पॉजिटिव किशोरों द्वारा संचालित किया जाएगा। सभी किशोरों को उनके परिवारों द्वारा त्याग दिया गया था जब उन्हें बचपन के दौरान एचआईवी पॉजिटिव घोषित किया गया था। # जुलाई से ग्राहकों के लिए # कैफे पॉजिटिव खोलने की उम्मीद है। pic.twitter.com/7qpWMnyxdT

— Hi Tours (@hitours) June 21, 2018

इंद्रजीती ने मीडिया से कहा “मैं शुरुआत में अपने गेराज स्पेस की पेशकश करने में थोड़ा संकोच कर रहा था क्योंकि वह जो कुछ भी ढूंढ रहा था उससे लिए यह जगह बहुत छोटा है, लेकिन सीखने के बाद कि वे छह महीने में किसी भी जगह का प्रबंधन करने में नाकाम रहे, मैंने उन्हें यहां से अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए कहा। यहां से उसकी शुरुआत हो सकती है और वे अपने पंख फैला सकते हैं। मैं इस महान पहल का हिस्सा बनकर खुश हूं”।

किशोर जो कैफे चला रहे हैं वे सभी ‘ऑफर इंडिया’ से संबंधित हैं जो कालोल घोष द्वारा संचालित एक गैर सरकारी संगठन है। उन्हें गैर सरकारी संगठन द्वारा शिक्षा, कौशल प्रशिक्षण और बोर्डिंग सुविधा प्रदान की गई थी। 14 जुलाई से कोलकाता में आम जनता के लिए कैफे खुल जाएगा।

Top Stories