प्रधानमंत्री मोदी के नाम में लिखा ‘बकचोद’, IANS ने माफी मांगी, पत्रकारों की नौकरी गई

प्रधानमंत्री मोदी के नाम में लिखा ‘बकचोद’, IANS ने माफी मांगी, पत्रकारों की नौकरी गई

देश की बड़ी समाचार एजेंसी आईएएनएस से जारी एक खबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम में बकचोद लिखने पर एजेंसी के संपादक ने माफी मांगी और जिन पत्रकारों के हाथों से गुजरने के बाद भी खबर में पीएम के लिए इस तरह की असभ्य बात रह गई उन सब पर कार्रवाई की जा रही है. खबर है कि आईएएनएस ने अपने रिपोर्टर को सस्पेंड कर दिया है और डेस्क पर काम करने वाले एडिटर को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. एजेंसी ने खबर में पीएम मोदी के बारे में इस तरह की असंसदीय बात नजर आने के बाद खबर को बदल दिया था और संपादक ने इसके लिए माफी मांगी थी.

आईएएनएस हिन्दी और अंग्रेजी खबरों की प्रमुख समाचार एजेंसी है जिसने बुधवार की शाम केंद्रीय कैबिनेट द्वारा फसल की कीमतों का किसानों को वाजिब दाम दिलाने की नीति प्रधानमंत्री अन्नदाता आय संरक्षण अभियान पर सरकार के फैसले की खबर जारी की. इस खबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के साथ बकचोद जोड़ दिया गया.

बकचोद का मतलब फालतू की बातें करने वाला होता है या वो जो बोलता बहुत हो पर करता कुछ नहीं हो. जैसे की एजेंसी की इस गलती पर लोगों ने नोटिस लिया, एजेंसी ने पुरानी खबर को इस्तेमाल ना करने की सलाह के साथ नई खबर जारी की. एजेंसी से किसी भी खबर के जारी होने की प्रक्रिया ये है कि रिपोर्टर खबर देता है जिसे डेस्क पर बैठे कॉपी एडिटर ठीक करते हैं और उनके ऊपर का डेस्क इंचार्ज या एडिटर उसे एक बार देखकर पास करता है और तब वो खबर जारी होती है. जाहिर है कि इस मामले में या तो खबर लिखने वाले रिपोर्टर ने बदमाशी की तो डेस्क ने उसे अनदेखा कर दिया या फिर रिपोर्टर ने ठीक कॉपी फाइल की लेकिन डेस्क पर किसी ने उसमें गलत शब्द जोड़ दिया और संपादक ने उसे पास कर दिया.

एजेंसी के मैनेजिंग एडिटर हरदेव सनोत्रा ने इस मामले पर अपने माफीनामा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में असंसदीय शब्द के इस्तेमाल पर खेद जताते हुए कहा है कि रिपोर्टर को सस्पेंड कर दिया गया है जबकि एडिटर को नोटिस जारी किया गया है. संपादक ने अपनी सफाई में कहा है कि मीडिया में कई बार इस तरह की दुर्भाग्यपूर्ण गलती हो जाती है जिसके लिए उनकी एजेंसी प्रधानमंत्री मोदी समेत ग्राहकों से माफी मांगती है.

Top Stories