VIDEO: गोदी मीडिया की एंकर बोली- हमारा मुद्दा मदरसों में वंदे मातरम है, 60 बच्चों की मौत नहीं

VIDEO: गोदी मीडिया की एंकर बोली- हमारा मुद्दा मदरसों में वंदे मातरम है, 60 बच्चों की मौत नहीं

गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में जब मासूम ऑक्सीजन की कमी से दम तोड़ रहे थे, तब पूरा देश उन बच्चों की सेहत के लिए दुआ कर रहा था। देश की हर मां दुआ कर रही थी कि किसी मां की गोद सूनी न हो।

लेकिन ठीक उसी वक्त देश के कुछ बड़े न्यूज़ चैनल्स इस हादसे को दिखाने के बजाए अक्षय कुमार की फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ और कथित राष्ट्रवाद पर बहस दिखाने में जुटे थे।

अंग्रेज़ी न्यूज़ चैनल ‘टाइम्स नाऊ’ पर वंदे मातरम को लेकर बहस हो रही थी। चैनल की मैनेजिंग एडिटर नविका कुमार इस शो को होस्ट कर रही थीं। बहस के दौरान विपक्ष के एक नेता ने गोरखपुर की घटना का ज़िक्र कर दिया। यह ज़िक्र नविका को नगवार गुज़रा और उन्होंने नेता को फटकार लगा दी।

नविका ने कहा कि हम मदरसों में ‘वंदे मातरम्’ के मुद्दे पर बहस कर रहे हैं और आप अस्पताल में बच्चों की मौत का मुद्दा उठाकर ध्यान भटकाना चाह रहे हैं?

नविका का यह असंवेदनशील बयान लोगों को पसंद नहीं आया और सोशल मीडिया पर लोगों ने उनकी जमकर क्लास लगा दी। वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने नविका के बयान को हवाला देते हुए ट्वीट किया, “मीडिया की ईश्वर मदद करे”।

द लाइंग लामा नाम के एक यूज़र ने लिखा, “मुझे डर लगता है, नविका कुमार गोरखपुर के अस्पताल में मरने वाले बच्चों के माता-पिता से पूछ सकती हैं कि उनके बच्चों ने मरने के लिए बीजेपी शासित राज्य को क्यों चुना”?     

Top Stories