VIDEO- अमेठी हिंसा में मृतक अशफाक के जनाजे में उमड़ा जनसैलाब

कासगंज में हो रहा उपद्रव अभी थमा नहीं कि अमेठी में भी दो पक्षों के बीच गोली अौर बमबारी की घटना सामने आ गई थी । घटना के पीछे दो पक्षों में पुराना विवाद बताया गया था. जिसमे  गोली लगने से 30 वर्षीय अशफाक पुत्र अंसार की मौके पर मौत हो गई थी. अशफाक की मौत के बाद माहौल कुछ गर्माता तब तक प्रसाशन ने स्तिथि को काबू में कर लिया. अशफाक के जनाजे में भारी हुजूम उमड़ पड़ा, 1000 दुपहिया और 200 से ज्यादा चौपहिया वाहनों से लगभग सात आठ हजार लोंगों की भीड़ ने उनके शव को सुपर्दे खाक किया. इस पूरे मामले पर एएसपी बीसी दुवे और एडीएम ईश्वर चन्द्र बर्णवाल मौके पर मौजूद रहकर निगाह बनाये हुए थे. ताकि किसी प्रकार की कोई अनहोनी न हो पाए. भीड़ को नियंत्रित करने के लिए एसडीएम मुसाफिर खाना अभय पांडे, सीओ मुसाफिर खाना सूक्ष्म प्रकाश भी अपनी जिम्मेदारी तत्परता से निभा रहे थे. एडीएम ओर एएसपी के नेत्रत्व में कई टीमों का गठन कर बाकी आरोपियों को गिरफ्तार करने की मुहीम जारी है. फिलहाल शांतिपूर्ण माहौल बना हुआ है.
अमेठी के जगदीशपुर में ब्लाक कार्यालय के पास विजया बैंक के सामने मंगलवार दोपहर दो पक्षों के बीच कई राउंड फायरिंग में 1 युवक की मौत हो गयी है. और घटना में 5 घायल हो गए है. अपर पुलिस अधीक्षक बीसी दुवे और अपर जिलाधिकारी ईश्वर चंद्र की सूझबूझ के चलते घटना पर तुरंत काबू पा लिया गया. घटना में मुख्य चार आरोपियों में से दो को गिरफ्तार कर लिया गया है.

बाकी दो को गिरफ्तारी के लिए अपर पुलिस अधीक्षक और अपर जिला अधिकारी के नेत्रत्व पांच टीमों का गठन कर लगातर दबिशें जारी है। घटना के पीछे दो पक्षों में पुराना विवाद बताया जा रहा है. सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस बल के साथ डीएम और एसपी पहुंच गए है. फिलहाल वहां तनाव की स्थिति बनी हुई है. वहीं इस मामले में एसपी ने एसओ जेबी पांडेय को निलंबित कर दिया है.खबर के मुताबिक, दोपहर में बड़े गांव निवासी अशफाक पुत्र अंसार किसी काम से अपनी सफारी कार से कस्बा आया था. वह अपने साथियों के साथ विजया बैंक के पास रुका ही था कि बाइक सवार दो बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी. जिसमें गोली लगने से अशफाक की मौके पर ही मौत हो गयी. पुलिस के मुताबिक, घटना के पीछे आपसी विवाद बताया जा रहा है. घटना में अशफाक नाम के एक व्यक्ति की मौत हो गई है. वहीं शंकर गंज के पूर्व प्रधान सतई की हालत गंभीर बनी हुई है. जिन्हें सीएचसी में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. घटना के बाद सैंकड़ों की संख्या में लोग सीएचसी के बाहर मौजूद है. जगदीशपुर गैंगवार पर एडीजी ने कहा कि किराए के शूटरों से हत्या कराई गई. राजेश विक्रम सिंह ने हत्या कराई. ‘बिहार के शूटरों को बुलाकर हत्या कराई गई. ‘पुलिस ने 2 शूटरों को गिरफ्तार किया है। दोनों के पास से पिस्टल बरामद हुए है. 2 लाख 47 हजार रुपए भी नकद बरामद हुए है.