VIDEO: इफ़्तार में यह गलतीयां कर अपने ऊपर जुल्म न करो- तारीक़ जमील

रमज़ान पाक और मुबारक महिना है। इस माह में मुसलमान 30 रोजे रखते हैं। रोजे के दौरान अल्लाह उनके सभी गुनाहों को माफ कर देते हैं। रमज़ान के माह में मुसलमानों के लिए हर पल इबादत का होता है। वह हर नेकी को पा लेना चाहता है।

सबसे खास पर होता है रोजेदारों के लिए वह पल जब वह दिनभर रोजा रखकर इफ़्तार के लिए बैढ़ता है। इस पल को को अल्लाह ने बेहद खास बनाया है। वो वक्त होता है जब मुसलमान अपने दस्तरखान पर तरह तरह की बेहतरीन खाने रखते हैं, मगर इसे अजान से पहले छू नहीं सकते हैं। यह अदा अल्लाह पाक को बेहद पसंद है।

इफ़्तार के वक्त अल्लाह पाक हमारे दुआओं को कबूल फरमाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हम कुछ बड़ी- बड़ी गलतियां भी कर बढ़ते हैं। उन गलतियों को जानने के लिए आप इस वीडियो को देखिए।

मौलाना तारीक़ जमील बता रहे हैं रमज़ान में तमाम उन फ़जीलतों को और हमसे हो रही खामियों को। जानने के लिए पुरा वीडियो को देखिए।