‘100 बॉल क्रिकेट’ के पक्ष में नहीं हैं विराट कोहली, कहा- क्रिकेट को व्यवसायीकरण से नुकसान

‘100 बॉल क्रिकेट’ के पक्ष में नहीं हैं विराट कोहली, कहा- क्रिकेट को व्यवसायीकरण से नुकसान

विराट कोहली का मानना है कि व्यवसायीकरण की वजह से क्रिकेट की गुणवत्ता पर असर पड़ रहा है। उन्होंने बुधवार को 100 बॉल क्रिकेट फॉर्मेट की आलोचना भी की। विराट ने कहा कि मैं ज्यादा क्रिकेट से परेशान नहीं हूं, लेकिन बढ़ते व्यवसायीकरण से क्रिकेट को होने वाले नुकसान से दुखी हूं। इंग्लैंड ‘100 बॉल क्रिकेट’ टूर्नामेंट को 2022 में लॉन्च करेगा।

विराट कोहली ने विजडन मैगजीन को दिए इंटरव्यू में कहा- “मैं 100 बॉल क्रिकेट फॉर्मेट का हिस्सा नहीं बनना चाहता हूं। जो इससे जुड़े हैं उनके लिए यह फायदेमंद और रोमांचक हो सकता है। मैं इस फॉर्मेट के पहले मैच के लिए बनने वाली विश्व एकादश टीम में भी शामिल नहीं होना चाहता हूं।”

विराट कोहली ने कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) और ऑस्ट्रेलिया में होने वाले बिग बैश लीग से मुझे परेशानी नहीं है। इन दोनों लीग में खेलना मुझे पसंद है।” इस साल मई में कोहली इंग्लैंड दौरे के पहले काउंटी में सरे की टीम से खेलने वाले थे। बाद में गर्दन में चोट के कारण उन्होंने अपना नाम वापस ले लिया। उन्होंने कहा, “काउंटी में खेलना मुझे पसंद हैं।”

इसके तहत हर पारी में 100 बॉल फेंकी जाएंगी। इसमें टी-20 फॉर्मेट से 20 बॉल कम होंगी। इस फॉर्मेट में छह गेंदों का ओवर फिट नहीं बैठता। इसलिए, हर पारी में 15 ओवर छह बॉल के होंगे। इस तरह कुल 90 बॉल हो जाएंगी। बची 10 बॉल को एक ही ओवर में डाली जाएंगी। फिलहाल यह तय नहीं हुआ है कि ये ओवर पारी की शुरुआत, बीच में या आखिर में फेंका जाएगा।

Top Stories